newstimesindia.com [Edited by: Sona Saini]

Last updated: 09-03-2018 15:24:08 PM

  • सुप्रीम कोर्ट ने आज ऐतिहासिक फैसला सुनाया है जिसमें मरणासन्न व्यक्ति द्वारा इच्छामृत्यु के लिए लिखी गई वसीयत को मान्यता देने की मांग की गई थी. लिविंग विल एक लिखित दस्तावेज होता है जिसमें कोई मरीज पहले से यह निर्देश देता है कि मरणासन्न स्थिति में पहुंचने या रजामंदी नहीं दे पाने कि स्थिति में पहुंचने पर उसे किस तरह का इलाज दिया जाये.

    अरुणा के लिए इच्छामृत्यु मांगी गई थी

    अरुणा शानबाग की 42 साल तक कोमा में रहने के बाद 18 मई 2015 की मौत हो गई थी. अरुणा 1973 में मुंबई के केईएम हॉस्पिटल में रेप की शिकार हुई थी. उनकी इच्छामृत्यु या दयामृत्यु की पिटीशन को सुप्रीम कोर्ट ने 8 मार्च 2011 को कैंसिल कर दी थी.

    मुंबई के किंग एडवर्ड मेमोरियल (केईएम) हॉस्पिटल में दवाई के कुत्तों पर एक्सपेरिमेंट करने का डिपार्टमेंट था. यहाँ नर्स कुत्तों को दवाई देती थी उन्ही में से एक थीं अरुणा शानबाग. 27 नवम्बर 1973 को अरुणा ने ड्यूटी पूरी की घर जाने से पहले कपड़े बदलने के लिए बेसमेंट में गई वहां वार्ड बॉय सोहनलाल पहले से वहां छिपा बैठा था. उसने अरुणा के गले में कुत्ते बाँधने वाली चेन लपेटकर दबा दी. अरुणा ने छूटने के लिए खूब ताकत लगाई पर गले की नसें दबने से बेहोश हो गई. अरुणा कोमा में चली गई और कभी ठीक नहीं हो पाई.

    दयामृत्यु में पिंकी वीरानी की ओर से भोजन बंद करने का आदेश माँगा गया था. जिससे अरुणा को नारकीय जीवन से छुटकारा मिल सके. पिंकी वीरानी ने अरुणा शानबाग़ की मार्मिक कहानी पर एक किताब भी लिखी और इसका नाम 'अरुणा की कहानी' रखा.

  • जानें किचन के अलवा बेकिंग सोडा के और भी कई फायदें ... और भी...
  • खुर्जा: DPS में मेधावियों को किया गया सम्मानित... और भी...
  • यूजीसी का आदेश 29 सितंबर को सभी यूनिवर्सिटीज मनाएग... और भी...
  • मथुरा : शिक्षा विभाग पर सहायक अध्यापकों ने उठाए स... और भी...
  • मथुरा: न्याय के लिए गुहार लगाते मजदूर परिवार... और भी...
ad
  • मेष

    सामाजिक प्रसंगों में सगे-संबंधियों और मित्रों के साथ आपका समय आनंदपूर्वक बीतेगा। मित्रों के पीछे धनखर्च होगा और उनके द्वारा लाभ भी होगा।

    मिथुन

    आज आपका भाग्य ही आपको सफलता दिलाएगा। आज सब कुछ आपकी इच्छा के अनुसार ही होगा। आपको लगेगा कि ये सब आपकी मेहनत से ना हो कर आपके सौभाग्य की वजह से हो रहा है। इस समय का पूरा लाभ उठाएं।

    कर्क

    आज किसी नए व्यक्ति से मिलने पर जिंदगी खुशियों से भर जाएगी। जिसके मिलने की आपने कल्पना भी नहीं की थी वही यकायक आपकी जिंदगी में आ जायेगा। व्यवसाय के लिए आज का दिन तरक्की वाला है।

    सिंह

    सांसारिक विषयों के बारे में उदासीन रहेंगे। आज मान हानि के योग बन रहे हैं। बेहतर होगा कि किसी भी तनावपूर्ण स्थिति में सयंम रखें और सोच-समझकर बोलें।

    कन्या

    प्रेम में मजबूती आएगी, रुका हुआ काम बनेगा, दौड़भाग बढ़ेगी

    तुला

    संतान की प्रगति होगी। प्रिय व्यक्ति के साथ मुलाकात रोमांचक रहेगी। तन-मन से ताजगी और स्फूर्ति का अनुभव करेंगे।

    वृश्चिक

    अनावश्यक दौड़भाग बढ़ेगा, नौकरी में तनाव हो सकता है, हनुमान चालीसा का पाठ करें

    धनु

    नए कार्य की शुरुआत के लिए शुभ समय है। मित्रों और सगे- संबंधियों के आगमन से घर में प्रसन्नता रहेगी। हाथ में लिए हुए कार्य सफलतापूर्वक पूरे होंगे।

    मकर

    संतान सुख मिलेगा, परिवार में खुशि‍यां आएंगी, उपहार मान सम्मान मिलेगा

    कुंभ

    गणेशजी के आशीर्वाद से शारीरिक-मानसिक रूप से आपका दिन प्रफुल्लित रहेगा। सगे- संबंधियों तथा मित्रों और पारिवारिक सदस्यों के साथ घर में उत्सव का वातावरण रहेगा। सुरुचिपूर्ण और मिष्टान्न का आनंद लेंगे। घूमने-फिरने और पर्यटन का कार्यक्रम आयोजित होगा

    मीन

    यह समय प्रतियोगी परीक्षा में भाग लेने के लिए अच्छा है। आपको सफलता जरूर मिलेगी। अपना आत्मविश्वास बनाए रखें व इस परीक्षा में पूरे आत्म-विश्वास के साथ भाग लें।नवीन कार्य करते हुए आप अवसरों का लाभ लेते हुए लंबा प्रयास कर सकते हैं। आप किसी बुरे सपने के कारण दिन भर परेशान रहेंगे।

  • *मुन्ना: अगर मां के चरणों में 'जन्नत' होती है तो

    नानी के चरणों में क्या होती है?

    सर्किट: सिंपल है भाई, नानी के चरणों में

    'जन्नत-2' होती है.

    सर्किट: भाई अब मोहल्ले के सारे लड़के इसको लाइन मारेंगे

    मुन्नाभाई: तू फिक्र मत कर, इसका नाम 'दीदी' रखेंगे

    *मुन्ना: ये चांद पर पहला कदम किसने रखा?

    सर्किट: नील आर्मस्ट्रॉन्ग ने

    मुन्ना: तो दूसरा कदम कसने रखा ?

    सर्किट:  क्या भाई!

    दूसरा भी तो उसी ने रखा होगा न

    वो लंगड़ा थोड़ी न था!

    * प्रिंसिपल: अगर कोई लड़का लड़कियों के हॉस्टल में गया तो पहली बार 100 रुपये, दूसरी बार 200 रुपये और तीसरी बार 500 रुपये फाइन लगेगा

    मुन्नाभाई: मंथली पास का कितना लगेगा मामू?

    * सर्किट: भाई, बापू ने बोला था कि कभी झूठ नहीं बोलने मांगता है। अपुन आज से कभी झूठ नहीं बोलेगा

    मुन्नाभाई: ऐ सर्किट, वो सुनीता का बाप आया है, तेरे को ढूंढ़ रहा है

    सर्किट: भाई उसको बोलो अपुन गांव गया है, खेती करने को

    मुन्नाभाई: पर सर्किट, अभी तो तू बोला कभी झूठ नहीं बोलेगा

    सर्किट: भाई, अपुन झूठ नहीं बोलेगा पर तुम तो बोल सकता है ना!