newstimesindia.com [Edited by: Mahi Jhawar]

Last updated: 05-06-2018 11:46:35 AM

  • ये बात हम सब जानते है कि की हमारा मन वैष्णो देवी के दरबार जाने का करता है. और कुछ लोग ऐसे भी होते है जिनकी प्लानिंग बहुत लंबे समय से बनी होती है. लेकिन कई बार ऐसा भी होता है कि वहां जाने के लिए लोगों के पास ज्यादा जानकारी नही होती है. जिसके चलते उन्हें चढ़ाई करने में परेशानी होती है. अगर आप भी वैष्णो देवी पहली बार जा रहे हैं तो हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ खास बातें.माता वैष्णो देवी मंदिर की यात्रा देश में सबसे पवित्र और कठिन तीर्थयात्राओं में से एक मानी जाती है.यह इसलिए माना जाता है कि माता का दरबार जम्मू-कश्मीर स्थित त्रिकूटा की पहाड़ियों में एक गुफा में है जहां तक पहुंचने के लिए 12 किलोमीटर की मुश्किल चढ़ाई करनी पड़ती है.  

    आप पैदल या हैलीकॉप्टर से भी सफर कर सकते है :

    वैष्णो देवी तीर्थ स्थान समुद्र तल से 5,300 फीट की ऊंचाई पर स्थित है और आधार शिविर, कटरा तक पहुंचने के लिए लगभग 12 किलोमीटर चढ़ना आवश्यक है.जिसे मां के दरबार भवन कहा जाता है. माता वैष्णो देवी के मंदिर तक पहुंचने के लिए चलना जरूरी नहीं है. आप घोड़े,  पिठू या पालकी की भी सवारी कर सकते हैं. जो आसानी से कटरा से इमारत तक उपलब्ध हैं. इसके अलावा कटरा से सांझी छत के बीच नियमित रूप से हेलिकॉप्टर सर्विस भी मौजूद है. सांझी छत से आपको सिर्फ 2.5 किलोमीटर की पैदल यात्रा करनी होगी.

    यार्त्री यात्रा से पहले पंजीकरण करना जरुरी है.

    जम्मू का एक छोटा-सा शहर कटरा, वैष्णो देवी के आधार शिविर के रूप में काम करता है. जो जम्मू से 50 किलो मीटर दूर है. यात्रा शुरू करने से पहले पंजीकरण करना बहुत जरुरी है. क्योंकि पंजीकरण पर्ची के आधार पर मंदिर जाने का मौका मिलेगा. कटरा और भवन के बीच कई पॉइंट्स हैं जिनमें चारपादुका, इंद्रप्रस्थ, हिमकोटी, गर्भजून, अर्धकुवांरी की सांझी छत और भैरो मंदिर शामिल हैं. लेकिन यात्रा का मध्य बिंदु अर्धकुंवारी गुफा से होकर जाता है जहां लोग पहले दर्शन करते है अर्धकुंवारी गुफा माता की. फिर वह से आगे की यात्रा शुरू करते है.  

    वैष्णो माता के द्वार कैसे पहुंचा जाए

    जम्मू के रानीबाग हवाई अड्डे वैष्णो देवी के निकट हवाई अड्डा है. जम्मू से सड़क के माध्यम से आधार के माध्यम से वैष्णो देवी द्वारा पहुंचा जा सकता है जो लगभग 50 किलोमीटर दूर है. जम्मू और कटरा के बीच बस और टैक्सी सेवा आसानी से उपलब्ध है और वहां नजदीकी में रेलवे स्टेशन भी है जो जम्मू और कटरा जाना वाली ट्रेन आती है.

    घूमने का सबसे अच्छा समय

    बता दें कि वैसे तो वैष्णो देवी की यात्रा पूरे साल खुली रहती है औऱ यहां कभी भी जा सकते हैं लेकिन गर्मियों में मई से जून और नवरात्रि (मार्च से अप्रैल और सितंबर से अक्टूबर) के बीच पीक सीजन होने की वजह से श्रद्धालुओं की जबरदस्त भीड़ देखने को मिलती है. इसके अलावा बारिश के मौसम में भी जुलाई-अगस्त में यात्रा करने से बचना चाहिए.

  • फ्रेंड्स और फैमिली के साथ सैफ अली खान ने मनाया बर्... और भी...
  • मॉरीशस में होने वाले 'हिंदी सम्मेलन' का ... और भी...
  • मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस का मास्टरमाइंड ब्रजेश आख... और भी...
  • रेस्लिंग रिंग में सपना-राखी का डांस मुकाबला, विडिय... और भी...
  • मैनपुरी: चंद्रशेखर आजाद के भतीजे का स्वतंत्रता दिव... और भी...
ad
  • मेष

    सामाजिक प्रसंगों में सगे-संबंधियों और मित्रों के साथ आपका समय आनंदपूर्वक बीतेगा। मित्रों के पीछे धनखर्च होगा और उनके द्वारा लाभ भी होगा।

    मिथुन

    आज आपका भाग्य ही आपको सफलता दिलाएगा। आज सब कुछ आपकी इच्छा के अनुसार ही होगा। आपको लगेगा कि ये सब आपकी मेहनत से ना हो कर आपके सौभाग्य की वजह से हो रहा है। इस समय का पूरा लाभ उठाएं।

    कर्क

    आज किसी नए व्यक्ति से मिलने पर जिंदगी खुशियों से भर जाएगी। जिसके मिलने की आपने कल्पना भी नहीं की थी वही यकायक आपकी जिंदगी में आ जायेगा। व्यवसाय के लिए आज का दिन तरक्की वाला है।

    सिंह

    सांसारिक विषयों के बारे में उदासीन रहेंगे। आज मान हानि के योग बन रहे हैं। बेहतर होगा कि किसी भी तनावपूर्ण स्थिति में सयंम रखें और सोच-समझकर बोलें।

    कन्या

    प्रेम में मजबूती आएगी, रुका हुआ काम बनेगा, दौड़भाग बढ़ेगी

    तुला

    संतान की प्रगति होगी। प्रिय व्यक्ति के साथ मुलाकात रोमांचक रहेगी। तन-मन से ताजगी और स्फूर्ति का अनुभव करेंगे।

    वृश्चिक

    अनावश्यक दौड़भाग बढ़ेगा, नौकरी में तनाव हो सकता है, हनुमान चालीसा का पाठ करें

    धनु

    नए कार्य की शुरुआत के लिए शुभ समय है। मित्रों और सगे- संबंधियों के आगमन से घर में प्रसन्नता रहेगी। हाथ में लिए हुए कार्य सफलतापूर्वक पूरे होंगे।

    मकर

    संतान सुख मिलेगा, परिवार में खुशि‍यां आएंगी, उपहार मान सम्मान मिलेगा

    कुंभ

    गणेशजी के आशीर्वाद से शारीरिक-मानसिक रूप से आपका दिन प्रफुल्लित रहेगा। सगे- संबंधियों तथा मित्रों और पारिवारिक सदस्यों के साथ घर में उत्सव का वातावरण रहेगा। सुरुचिपूर्ण और मिष्टान्न का आनंद लेंगे। घूमने-फिरने और पर्यटन का कार्यक्रम आयोजित होगा

    मीन

    यह समय प्रतियोगी परीक्षा में भाग लेने के लिए अच्छा है। आपको सफलता जरूर मिलेगी। अपना आत्मविश्वास बनाए रखें व इस परीक्षा में पूरे आत्म-विश्वास के साथ भाग लें।नवीन कार्य करते हुए आप अवसरों का लाभ लेते हुए लंबा प्रयास कर सकते हैं। आप किसी बुरे सपने के कारण दिन भर परेशान रहेंगे।

  • *मुन्ना: अगर मां के चरणों में 'जन्नत' होती है तो

    नानी के चरणों में क्या होती है?

    सर्किट: सिंपल है भाई, नानी के चरणों में

    'जन्नत-2' होती है.

    सर्किट: भाई अब मोहल्ले के सारे लड़के इसको लाइन मारेंगे

    मुन्नाभाई: तू फिक्र मत कर, इसका नाम 'दीदी' रखेंगे

    *मुन्ना: ये चांद पर पहला कदम किसने रखा?

    सर्किट: नील आर्मस्ट्रॉन्ग ने

    मुन्ना: तो दूसरा कदम कसने रखा ?

    सर्किट:  क्या भाई!

    दूसरा भी तो उसी ने रखा होगा न

    वो लंगड़ा थोड़ी न था!

    * प्रिंसिपल: अगर कोई लड़का लड़कियों के हॉस्टल में गया तो पहली बार 100 रुपये, दूसरी बार 200 रुपये और तीसरी बार 500 रुपये फाइन लगेगा

    मुन्नाभाई: मंथली पास का कितना लगेगा मामू?

    * सर्किट: भाई, बापू ने बोला था कि कभी झूठ नहीं बोलने मांगता है। अपुन आज से कभी झूठ नहीं बोलेगा

    मुन्नाभाई: ऐ सर्किट, वो सुनीता का बाप आया है, तेरे को ढूंढ़ रहा है

    सर्किट: भाई उसको बोलो अपुन गांव गया है, खेती करने को

    मुन्नाभाई: पर सर्किट, अभी तो तू बोला कभी झूठ नहीं बोलेगा

    सर्किट: भाई, अपुन झूठ नहीं बोलेगा पर तुम तो बोल सकता है ना!