newstimesindia.com [Edited by: Nishi Dubey]

Last updated: 08-10-2018 10:58:06 AM

  • ये बात तो सब लोग जानते है कि भाद्र पक्ष की पूर्णिमा से शुरू होकर अश्वनी माह की अमावस्या तक रहने वाले पितृ पक्ष अमावस्या को खत्म होते हैं. इतना ही नही यह श्राद्ध का 15वां दिन है. इसे सर्वपितृ अमावस्या कहते हैं.बता दें कि जब पितरों की देहावसान तिथि अज्ञात हो तो पितरों की शांति के लिए पितृ विसर्जन अमावस्या को श्राद्ध करने का नियम हैं. आप सभी पितरों की तिथि याद नहीं रख सकते. तो ऐसी दशा में भी पितृ विसर्जन अमावस्या को श्राद्ध करना चाहिए.

    इस दिन किसी सात्विक और विद्वान ब्राह्मण को घर पर निमंत्रित करें और उनसे भोजन करने और आशीर्वाद देने की प्रार्थना करें. साथ ही स्नान करके शुद्ध मन से भोजन बनाएं, लेकिन भोजन शुद्ध होना चाहिए.बता दें कि सर्वपितृ अमावस्या को प्रात: स्नानादि के पश्चात गायत्री मंत्र का जाप करते हुए सूर्यदेव को जल अर्पित करना चाहिए. इसके पश्चात घर में श्राद्ध के लिए बनाए गए भोजन से पंचबलि अर्थात गाय, कुत्ते, कौए, देव एवं चीटिंयों के लिये भोजन का अंश निकालकर उन्हें देना चाहिए.

    इसके पश्चात श्रद्धापूर्वक पितरों से मंगल की कामना करनी चाहिए. संध्या के समय सामर्थ्य के अनुसार, दो, पांच अथवा सोलह दीप भी प्रज्जवलित करने चाहिए.

  • आगरा: चोरी करने वाले 6 युवकों को पुलिस ने किया गिर... और भी...
  • मथुरा: इलेक्ट्रॉनिक की दुकान में अचानक आग लगने से ... और भी...
  • आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस पर दर्दनाक सड़क हादसा,चार की म... और भी...
  • इटावा: समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के नेता शिवपाल याद... और भी...
  • आगरा: मामूली बात को लेकर दो पक्षों में हुआ विवाद, ... और भी...
ad
  • मेष

    सामाजिक प्रसंगों में सगे-संबंधियों और मित्रों के साथ आपका समय आनंदपूर्वक बीतेगा। मित्रों के पीछे धनखर्च होगा और उनके द्वारा लाभ भी होगा।

    मिथुन

    आज आपका भाग्य ही आपको सफलता दिलाएगा। आज सब कुछ आपकी इच्छा के अनुसार ही होगा। आपको लगेगा कि ये सब आपकी मेहनत से ना हो कर आपके सौभाग्य की वजह से हो रहा है। इस समय का पूरा लाभ उठाएं।

    कर्क

    आज किसी नए व्यक्ति से मिलने पर जिंदगी खुशियों से भर जाएगी। जिसके मिलने की आपने कल्पना भी नहीं की थी वही यकायक आपकी जिंदगी में आ जायेगा। व्यवसाय के लिए आज का दिन तरक्की वाला है।

    सिंह

    सांसारिक विषयों के बारे में उदासीन रहेंगे। आज मान हानि के योग बन रहे हैं। बेहतर होगा कि किसी भी तनावपूर्ण स्थिति में सयंम रखें और सोच-समझकर बोलें।

    कन्या

    प्रेम में मजबूती आएगी, रुका हुआ काम बनेगा, दौड़भाग बढ़ेगी

    तुला

    संतान की प्रगति होगी। प्रिय व्यक्ति के साथ मुलाकात रोमांचक रहेगी। तन-मन से ताजगी और स्फूर्ति का अनुभव करेंगे।

    वृश्चिक

    अनावश्यक दौड़भाग बढ़ेगा, नौकरी में तनाव हो सकता है, हनुमान चालीसा का पाठ करें

    धनु

    नए कार्य की शुरुआत के लिए शुभ समय है। मित्रों और सगे- संबंधियों के आगमन से घर में प्रसन्नता रहेगी। हाथ में लिए हुए कार्य सफलतापूर्वक पूरे होंगे।

    मकर

    संतान सुख मिलेगा, परिवार में खुशि‍यां आएंगी, उपहार मान सम्मान मिलेगा

    कुंभ

    गणेशजी के आशीर्वाद से शारीरिक-मानसिक रूप से आपका दिन प्रफुल्लित रहेगा। सगे- संबंधियों तथा मित्रों और पारिवारिक सदस्यों के साथ घर में उत्सव का वातावरण रहेगा। सुरुचिपूर्ण और मिष्टान्न का आनंद लेंगे। घूमने-फिरने और पर्यटन का कार्यक्रम आयोजित होगा

    मीन

    यह समय प्रतियोगी परीक्षा में भाग लेने के लिए अच्छा है। आपको सफलता जरूर मिलेगी। अपना आत्मविश्वास बनाए रखें व इस परीक्षा में पूरे आत्म-विश्वास के साथ भाग लें।नवीन कार्य करते हुए आप अवसरों का लाभ लेते हुए लंबा प्रयास कर सकते हैं। आप किसी बुरे सपने के कारण दिन भर परेशान रहेंगे।

  • *मुन्ना: अगर मां के चरणों में 'जन्नत' होती है तो

    नानी के चरणों में क्या होती है?

    सर्किट: सिंपल है भाई, नानी के चरणों में

    'जन्नत-2' होती है.

    सर्किट: भाई अब मोहल्ले के सारे लड़के इसको लाइन मारेंगे

    मुन्नाभाई: तू फिक्र मत कर, इसका नाम 'दीदी' रखेंगे

    *मुन्ना: ये चांद पर पहला कदम किसने रखा?

    सर्किट: नील आर्मस्ट्रॉन्ग ने

    मुन्ना: तो दूसरा कदम कसने रखा ?

    सर्किट:  क्या भाई!

    दूसरा भी तो उसी ने रखा होगा न

    वो लंगड़ा थोड़ी न था!

    * प्रिंसिपल: अगर कोई लड़का लड़कियों के हॉस्टल में गया तो पहली बार 100 रुपये, दूसरी बार 200 रुपये और तीसरी बार 500 रुपये फाइन लगेगा

    मुन्नाभाई: मंथली पास का कितना लगेगा मामू?

    * सर्किट: भाई, बापू ने बोला था कि कभी झूठ नहीं बोलने मांगता है। अपुन आज से कभी झूठ नहीं बोलेगा

    मुन्नाभाई: ऐ सर्किट, वो सुनीता का बाप आया है, तेरे को ढूंढ़ रहा है

    सर्किट: भाई उसको बोलो अपुन गांव गया है, खेती करने को

    मुन्नाभाई: पर सर्किट, अभी तो तू बोला कभी झूठ नहीं बोलेगा

    सर्किट: भाई, अपुन झूठ नहीं बोलेगा पर तुम तो बोल सकता है ना!