newstimesindia.com [Edited by: Mahi Jhawar]

Last updated: 13-02-2018 10:29:05 AM

  • प्राचीन भारतीय परंपरा में फाल्गुन मास की चतुर्दशी के दिन आने वाली शिवरात्रि को महाशिवरात्रि के रूप में देशभर में धूमधाम से मनाया जाता है. सुबह से ही शिव मंदिरों में भक्तों का तांता लगा हुआ है. शिवालयों को फूल-मलाओं से सजाया गया है. शिव भक्त मंदिरों में बेलपत्र और कच्चे दूध से भगवान भोलेनाथ का जलाभिषेक करने सुबह से ही लाइन में लगे हुए है.

    महाशिवरात्रि के व्रत को अमोघ फल देने वाला बताया गया है. इस दिन भारत समेत दुनिया भर में सनातनी उपवास -व्रत समेत रात्रि जागरण कर मनाते हैं. यह महापर्व फागुन चतुर्दशी को मनाया जाता है. इस बार फागुन कृष्ण चतुर्दशी तिथि 13 फरवरी को रात 10.22 बजे लग रही है जो 14-15 की मध्य रात्रि 12.17 बजे तक रहेगी. फागुन चतुर्दशी तिथि इस बार 13 व 14 दोनों ही दिन मध्य रात्रि में मिल रही है. ऐसे में महाशिवरात्रि दोनों ही दिन यानी 13 व 14 फरवरी को मनाई जाएगी.

    21 साल बाद बना ऐसा संयोग

    इस साल महाशिवरात्रि दो दिन तक (13 व 14 फरवरी) मनेगी. साथ ही प्रदोष भी मनेगा. ऐसा संयोग 21 साल बाद आया है. अलग-अलग पंचांग में महाशिवरात्रि अलग-अलग दिन है. पंडितों के अनुसार रात 10.21 बजे से चतुर्दशी शुरू हो जाएगी. इसलिए 12.8 मिनट पर 1.2 मिनट तक निशिथ काल महारात्रि होगी. इसके साथ ही 21 साल बाद अद्भुत संयोग बन रहा है. महाशिवरात्रि के साथ ही प्रदोष भी बनेगा. वहीं 14 फरवरी को रात 12.11 बजे चतुर्दशी समाप्त हो जाएगी.

    दो दिन महाशिवरात्रि

    महाशिवरात्रि को भगवान शिव की पूजा करने का सबसे बड़ा दिन माना जा रहा है. मान्यता है कि इस दिन अगर भोलनाथ को खुश कर लिया, तो आपके सभी बिगड़े काम सफल हो जाते हैं. लेकिन इस बार शिवभक्तों को भोलनाथ को खुश करने के दो अवसर मिल रहे हैं. क्योंकि इस बार शिवरात्रि दो दिन मनाई जा रही है. 13 फरवरी यानी आज की रात 10 बजकर 35 मिनट पर चतुर्दशी तिथि का शुभारंभ होगा. वहीं, 14 फरवरी की रात 12 बजकर 46 मिनट तक चतुर्दशी रहेगी. ऐसे में दोनों ही दिन श्रद्धालु भोलेनाथ का जलाभिषेक कर सकते हैं.

    पूजन विधान

    मान्यता है कि भगवान शंकर का विवाह माता पार्वती के साथ इस दिन ही हुआ था. इस दिन प्रयाग काशी में गंगा स्नान का भी विशेष महत्व होता है. जो व्यक्ति निराहार रहकर रात्रि के चारों प्रहर शिव पूजन करता है, उसे भगवान शंकर अतिप्रसन्न होते हैं. कहा गया है कि महाशिवरात्रि के बराबर कोई पापनाशक व्रत नहीं है. इस व्रत को करके मनुष्य अपने सभी पापों से छूट जाता है और अनंत फल प्राप्त करता है. इस दिन शिवलिंग का विधि विधान से अभिषेक और पंचोपचार या षोडशोपचार पूजन करना चाहिए.

    इन मंत्रों का जाप करें-

    ओम नम: शिवाय, ओम सद्योजाताय नम:, ओम वामदेवाय नम:, ओम अघोराय नम:, ओम ईशानाय नम:, ओम तत्पुरुषाय नम:.

    अर्घ्य देने के लिए करें

    गौरीवल्लभ देवेश, सर्पाय शशिशेखर, वर्षपापविशुद्धयर्थमर्ध्यो मे गृह्यताम तत:

    भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए ये चढ़ायें-

    • केसर, चीनी, इत्र, दूध, दही, घी, चंदन, शहद, भांग,सफेद पुष्प, धतूरा और बिल्व पत्र.

    • जल: ॐ नम: शिवाय मंत्र का जाप करते हुए शिवलिंग पर जल चढ़ाएं.

    • बिल्व पत्र के तीनों पत्ते पूरे होने चाहिएं, खंडित पत्र कभी न चढ़ाएं.

    • चावल सफेद रंग के साबुत होने चाहिएं, टूटे हुए चावलों ना चढ़ायें.

    • फूल ताजे ही चढ़ायें, बासी एवं मुरझाए हुए न हों.

    • शिवलिंग पर लाल रंग, केतकी एवं केवड़े के पुष्प अर्पित नहीं किए जाते.

    • भगवान शिव पर कुमकुम और रोली का अर्पण भी निषेध है.

  • बिजनौर: स्वच्छता अभियान कर लोगों को जागरूक करने की... और भी...
  • शातिर अपराधी गिरफ्तार, बरामद हुए कई अवैध असलहे... और भी...
  • प्रदूषण के कहर से बचना है, तो ये 8 चीजें जरूर खाएं... और भी...
  • खड़गे ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाज़ा, आलोक वर्... और भी...
  • सपना चौधरी का जिम वीडियो वायरल, दिखा नया अंदाज... और भी...
ad
  • मेष

    सामाजिक प्रसंगों में सगे-संबंधियों और मित्रों के साथ आपका समय आनंदपूर्वक बीतेगा। मित्रों के पीछे धनखर्च होगा और उनके द्वारा लाभ भी होगा।

    मिथुन

    आज आपका भाग्य ही आपको सफलता दिलाएगा। आज सब कुछ आपकी इच्छा के अनुसार ही होगा। आपको लगेगा कि ये सब आपकी मेहनत से ना हो कर आपके सौभाग्य की वजह से हो रहा है। इस समय का पूरा लाभ उठाएं।

    कर्क

    आज किसी नए व्यक्ति से मिलने पर जिंदगी खुशियों से भर जाएगी। जिसके मिलने की आपने कल्पना भी नहीं की थी वही यकायक आपकी जिंदगी में आ जायेगा। व्यवसाय के लिए आज का दिन तरक्की वाला है।

    सिंह

    सांसारिक विषयों के बारे में उदासीन रहेंगे। आज मान हानि के योग बन रहे हैं। बेहतर होगा कि किसी भी तनावपूर्ण स्थिति में सयंम रखें और सोच-समझकर बोलें।

    कन्या

    प्रेम में मजबूती आएगी, रुका हुआ काम बनेगा, दौड़भाग बढ़ेगी

    तुला

    संतान की प्रगति होगी। प्रिय व्यक्ति के साथ मुलाकात रोमांचक रहेगी। तन-मन से ताजगी और स्फूर्ति का अनुभव करेंगे।

    वृश्चिक

    अनावश्यक दौड़भाग बढ़ेगा, नौकरी में तनाव हो सकता है, हनुमान चालीसा का पाठ करें

    धनु

    नए कार्य की शुरुआत के लिए शुभ समय है। मित्रों और सगे- संबंधियों के आगमन से घर में प्रसन्नता रहेगी। हाथ में लिए हुए कार्य सफलतापूर्वक पूरे होंगे।

    मकर

    संतान सुख मिलेगा, परिवार में खुशि‍यां आएंगी, उपहार मान सम्मान मिलेगा

    कुंभ

    गणेशजी के आशीर्वाद से शारीरिक-मानसिक रूप से आपका दिन प्रफुल्लित रहेगा। सगे- संबंधियों तथा मित्रों और पारिवारिक सदस्यों के साथ घर में उत्सव का वातावरण रहेगा। सुरुचिपूर्ण और मिष्टान्न का आनंद लेंगे। घूमने-फिरने और पर्यटन का कार्यक्रम आयोजित होगा

    मीन

    यह समय प्रतियोगी परीक्षा में भाग लेने के लिए अच्छा है। आपको सफलता जरूर मिलेगी। अपना आत्मविश्वास बनाए रखें व इस परीक्षा में पूरे आत्म-विश्वास के साथ भाग लें।नवीन कार्य करते हुए आप अवसरों का लाभ लेते हुए लंबा प्रयास कर सकते हैं। आप किसी बुरे सपने के कारण दिन भर परेशान रहेंगे।

  • *मुन्ना: अगर मां के चरणों में 'जन्नत' होती है तो

    नानी के चरणों में क्या होती है?

    सर्किट: सिंपल है भाई, नानी के चरणों में

    'जन्नत-2' होती है.

    सर्किट: भाई अब मोहल्ले के सारे लड़के इसको लाइन मारेंगे

    मुन्नाभाई: तू फिक्र मत कर, इसका नाम 'दीदी' रखेंगे

    *मुन्ना: ये चांद पर पहला कदम किसने रखा?

    सर्किट: नील आर्मस्ट्रॉन्ग ने

    मुन्ना: तो दूसरा कदम कसने रखा ?

    सर्किट:  क्या भाई!

    दूसरा भी तो उसी ने रखा होगा न

    वो लंगड़ा थोड़ी न था!

    * प्रिंसिपल: अगर कोई लड़का लड़कियों के हॉस्टल में गया तो पहली बार 100 रुपये, दूसरी बार 200 रुपये और तीसरी बार 500 रुपये फाइन लगेगा

    मुन्नाभाई: मंथली पास का कितना लगेगा मामू?

    * सर्किट: भाई, बापू ने बोला था कि कभी झूठ नहीं बोलने मांगता है। अपुन आज से कभी झूठ नहीं बोलेगा

    मुन्नाभाई: ऐ सर्किट, वो सुनीता का बाप आया है, तेरे को ढूंढ़ रहा है

    सर्किट: भाई उसको बोलो अपुन गांव गया है, खेती करने को

    मुन्नाभाई: पर सर्किट, अभी तो तू बोला कभी झूठ नहीं बोलेगा

    सर्किट: भाई, अपुन झूठ नहीं बोलेगा पर तुम तो बोल सकता है ना!